Tuesday, December 23, 2014

हरियाली चौपाल का संकल्प पत्र

 वृक्ष मित्र संकल्प पत्र   


16 पेड़ एक जिंदगी अभियान  

 
प्रकृति की गोद में जन्मे हम सभी छोटे - बड़े अंश सजीव है l हम सभी में प्रकृति के नैसर्गिक 
तत्वों का अविरल बहने वाला प्राण तत्व है l किन्तु विकास की अंधी बयार ने हम मनुष्यों को निज हित में स्वार्थी और निरंकुश बना दिया है l घटते हुए जंगल , मिटे पोखर - तालाब और मरती नदियाँ हमारे विकास के गवाह है l कंक्रीट के ऊँचे - ऊँचे सोपानो ने प्लास्टिक के कचरे में प्राण वायु लेते हम सभी जीवो को अपने धरती में उत्पन्न होने का लक्ष्य विस्मृत किया है l अगर ये सब ऐसा ही चलता रहा तो हम भी गाँव , शहरो से ख़तम होते संयुक्त परिवार की तरह समूल नष्ट होंगे l आइये हम सभी ' वृक्ष मित्र बरगद ' बने l 
 
बरगद ही क्यों -  1 - ' बरगद ' एक मात्र पौधा है वसुंधरा का जो अपनी शाखाओ से संयुक्त परिवार की संरचना करता है l 2 - ' बरगद ' का पौधा 100 % आक्सीजन देने वाला एकमात्र वृक्ष है,    3 - ' बरगद ' का पौधा मिटटी की कटान को रोकता है l 3 - ' बरगद ' का पौधा प्रकृति संरचना में अमूल्य योगदान देकर मनुष्य के पौरुष बल को बढ़ाता है l 4 - इसका दूध आयुर्वेदिक ,सजीव अमृत रस है l 4 - बरगद कई वर्ष तक निर्बाध जीवित रहने वाला पौधा है जो वायुमंडल को निःशुल्क प्राण वायु देता रहता है l 6 - पतिव्रता स्त्री के सुहाग की रक्षा और उसकी मनोकामना को ' बरगद ' पूर्ण करता है ऐसा हिन्दू आस्था का अभिप्राय है l 
अतः हम संकल्प - शपथ लेते है कि धरती कि हरियाली को सहेजने और प्रकृति को सुन्दर बनाने के लिए सभी सजीवो पर समानता का भाव रखते हुए अपने घरो में उत्सव , जन्म दिवस , विवाह , अंतिम संस्कार में ' बरगद ' का एक - एक पौधा रोपण करेंगे l                   

                                                            सौजन्य से - प्रवासनामा हरियाली चौपाल, बाँदा 

0 Comments:

Post a Comment

Subscribe to Post Comments [Atom]

Links to this post:

Create a Link

<< Home