Monday, February 01, 2016

कोटेदार ने अनाज नही दिया तो किसान ने की आत्महत्या !

1 फरवरी 2015 - Reed Story and Help us Bundelkhand Drought Farmer Case In Banda 

मृतक किसान माँ के इलाज को नही जुटा पाया 50 हजार रुपया !

किसान आत्महत्या की फेहरिस्त में आज बाँदा जिले के बेंदाघाट की ग्राम पंचायत ( खौडा ) के मजरा दतरौली निवासी युवा किसान रामसिंह उम्र सैतीस साल ने फांसी लगाकर कर आत्महत्या की ! बतलाते चले कि बंटवारे की तीन बीघा खेती में अनाज न होने और बीती सुबह कोटेदार के बीपीएल कार्ड में राशन देने से मना करने पर अवसाद में गए इस किसान ने जीवन लीला का अंत कर लिया ! राजस्वकमियों ने मृतक के परिजनों को फौरीतौर पर कोटे से एक कुंटल राशन देने का निर्देश दबंग कोटेदार को दिया है ! गरीबी में परिवार नियोजन पर सवाल खड़ा कर रहे इस किसान राम सिंह की बेवा सुमनलता 6 बच्चो की माँ है ! ( दो बेटे और चार लड़की सब नाबालिंग है जिसमे सबसे छोटा बच्चा डेढ़ साल का गोद में ) सदर तहसील के चिल्ला थाना क्षेत्र इस किसान ने पशु का चारा रखने की अटारी में धन्नी पर रस्सी के सहारे यह आत्महत्या की ! पत्नी सुमनलता ने पति को जब लटका देखा तो शोरगुल मचाया ! रामसिंह की माँ को ह्रदय की गंभीर बीमारी ( दिल का वाल्ब डैमिज है ) उसे माँ के इलाज के लिए 50 हजार की आवश्यकता थी जो पूरी नही हुई ! गाँव वालों का कहना था कि अगर कोटेदार राशन देने से मना नही करता तो अन्न से बेदखल यह किसान फांसी नही लगाता ! बुंदेलखंड में यह सच है खाद्य सुरक्षा कानून का ! जब आप अन्त्योदय और बीपीएल को दो रूपये में गेंहू देने का दावा करते है !अभियान के शैलेन्द्र श्रीवास्तव नवीन ने 2 हजार रूपये देकर बेवा को दिलासा दी ! मौके पर पहुंचे साथियों ने किसान की बेटियों के निकट भविष्य में ब्याह और अन्य तकलीफ का खर्चा उठाने का वादा किया है ! तिंदवारी विधायक दलजीत सिंह और इलाके के सपा नेता बच्चन सिंह सहित ग्राम प्रधान अभी तक नदारद है ! जो साथी इस पीड़ित परिवार की मदद करना चाहे वो खाता नाम - ' अन्नदाता की आखत ',बैंक यूपी ग्रामीण बैंक,शाखा विलेज कालूकुआँ,बाँदा ,खाता संख्या - 11020100073334,IFSC Code - ALLA0AU1102 में अपना सहयोग दे सकते है ! ...आपको यह विस्वास रहे यह आखत मृतक किसान परिवार के पास सीधी पहुचेगी !

0 Comments:

Post a Comment

Subscribe to Post Comments [Atom]

Links to this post:

Create a Link

<< Home